काठमाडौं । डा.सीके राउत नेतृत्वको जनमत पार्टीको तीन दिवसीय केन्द्रीय समिति बैठक अनलाइन भिडियो कन्फरेन्समार्फत् सम्पन्न भएको छ ।

सो बैठकले १२ बुँदे निर्णय गरेको छ । एक वर्ष कार्यकाल पूरा गरेका जिल्ला इन्चार्ज परिवर्तन गरिएको छ ।

1. २०७६ साल चैत्र १५, १६ और १७ गते ऑनलाइन विडियो कन्फरेन्स मार्फत् जनमत पार्टी की केन्द्रिय समिति बैठक सम्पन्न हुई। कोविड-१९ के विषय में नेपाल सरकार द्वारा जारी लॅक-डाउन की विषम परिस्थिति में भी बैठक को सफल करने के लिए सभी सहभागी को धन्यवाद है।

2. बैठक ने २०७६ साल अगहन २७-२८ गते की केन्द्रिय समिति की बैठक के निर्देश अनुसार बिगत ३ महिने में हुये कार्यों का मूल्यांकन करते हुये सम्पूर्ण गतिविधियों की समीक्षा की। इस बीच में विभिन्न जिले में आम-सभाओं को भव्यता के साथ सम्पन्न करने के लिए और संगठन को विस्तार करने के लिए सम्पूर्ण नेता, कार्यकर्ता, स्वयंसेवक, शुभचिन्तक तथा सम्पूर्ण जनता को जनमत पार्टी हार्दिक धन्यवाद ज्ञापन करती है।

3. कार्य समीक्षा के आधार पर अपने जिले में सबसे उत्कृष्ट एवं तीव्र तवर से संगठन को विस्तार करने और आम-सभा सफलतापूर्वक सम्पन्न करने के लिए सिरहा, सप्तरी और रुपन्देही जिलों को इस बार “Star Performer of the Quarter” सम्मान के लिए संयुक्त रूप में घोषणा की जाती है।

4. “वरिष्ठ नेतृत्व मण्डल”, “मधेश नेतृत्व पूंज”, “दलित जनमत संघ”, महिला जनमत संघ” सहित के संरचना को वृहत् रूप में विस्तार करने के लिए पहल किया जायेगा और उसका संख्यात्मक एवं गुणात्मक विस्तार सम्बन्धी प्रगति विवरण आगामी केन्द्रिय समिति में पेश करने के लिए सम्बन्धित राष्ट्रिय संयोजक को निर्देश दिया जाता है। “युवा जनमत संघ” को हरेक टोल और वार्ड स्तर पर गठन करने के लिए पहल करने की जिम्मेबारी श्री संजय यादव (सिरहा) को दी जाती है।

5. आगामी निर्वाचन में विजय हासिल करने अभी से ही तैयारी को प्राथमिकता देते हुये भावी चुनावी रणनीति के विषय में प्रतिवेदन तैयार करके केन्द्रिय समिति की अगली बैठक में पेश करने की जिम्मेबारी के.स. श्री भोपेन्द्र यादव को दी जाती है।

6. अनुगमन: जितनी भी वडा/पालिका/क्षेत्रिय समितियाँ बनी है, उसे अनुगमन किया जायेगा। अनुगमन करने के लिए एक जिले में दूसरे जिले के प्रतिनिधि चयन किया जायेगा और पहले चरण में फोन के मार्फत् अनुगमन किया जायेगा।

7. संगठन विस्तार: इस विषय परिस्थिति में गांव-गांव में बैठक और भेटघाट करना मुश्किल होने के कारण फोन और ऑनलाइन के जरिये सदस्यता को विस्तार करने के लिये आवश्यक व्यवस्था की जायेगी।

8. अनुशासन सम्बन्धी:

(क) संगठन में गुटबन्दी करनेवाले, लोगों को भड़काने वाले, कमान्डचेन में नहीं रहनेवाले, संगठन की केन्द्रिय समिति या जिला समिति में रहते हुये भी संगठन या नेतृत्व के विषय में भ्रम फैलाने और अवरोध करने के कार्य करनेवालों को आगामी दिन में बिलकुल छूट नहीं दी जायेगी। ऐसे लोग चाहे तो अपना अलग रास्ता चयन करने के लिए स्वतन्त्र है। जो संगठन में रहेगा, उसे संगठन, नेतृत्व और कमान्ड-चेन के प्रति पूर्ण-प्रतिबद्ध रहना ही होगा।

(ख) “जो केन्द्रिय समिति का निर्देश नहीं मानेगा, संगठन द्वारा भेजा गया इन्चार्ज, प्रतिनिधि या दूत को नहीं मानेगा, उसे संगठन नहीं मानेगा” नीति कडाई के साथ लागू की जायेगी।

(ग) पद पर रहते हुये ठीक, और नहीं रहने पर दूसरे पदाधिकारी, इन्चार्ज, केन्द्र या संगठन को असहयोग करने की जो प्रवृत्ति है, उसे पूर्ण रुप से निरुत्साहित किया जायेगा। पद पर से निवृत्त होते ही गैर-जिम्मेबार व्यवहार दिखाना, हमको मतलब नहीं है कहना, पुराने विवरण, डाटा और हरहिसाब नहीं देना, यह जो प्रवृति है, उसे खत्म किया जायेगा। अगर कोई ऐसा करता है, तो उस पर सांगठनिक और आवश्यक पड़ने पर कानूनी कार्रवाही तक किया जा सकता है। ऐसे असहयोग करनेवाले और गैर-जिम्मेबारपूर्ण व्यवहार दिखानेवालों को पहचान करके उसे भविष्य में कोई महत्वपूर्ण जिम्मेबारी, पद या चुनावी टिकट नहीं देने के लिए “ब्लैक-लिस्ट” में डाला जा सकता है।

9. नयाँ इन्चार्ज नियुक्ति: हरेक जिले में १ वर्ष कार्यकाल पूरा कर चुके जिला इन्चार्ज को बदलकर नयाँ जिला इन्चार्ज नियुक्त किया जायेगा। इन्चार्ज में यथासम्भव फुलटाइमर को रखा जायेगा।

10. जिला में प्रमुख नेतृत्व का ऑनलाइन बैठक: जिला के विभिन्न क्षेत्र व विविधता को समेटते हुये ५-७ जिला नेतृत्व को समेटकर ऑनलाइन ही बैठक की जायेगी। बैठक केन्द्रिय समिति सदस्य मो. अब्दुल खान/श्री दीपक साह या अन्य निर्देशित व्यक्ति के संयोजकत्व में होगी।

जिला में किस-किस से बात करेंगे, वह सम्बन्धित जिला की गतिविधि और समस्या को देखकर सहभागियों का चयन संयोजक ही करेंगे। (अभी विडियो कल में प्राय: ८ आदमियों को ही प्रभावकारी तरीके से रख पाने के प्राविधिक कारण से एक सेशन में इतने ही सहभागी में सिमित किया जायेगा। यह कोई कमिटी नहीं है। बल्कि समस्या अनुसार जिस-जिस को बुलाना आवश्यक होगा, उसे बुलाया जायेगा। ५-७ आदमी से बातचीत करके नहीं होगा, तो संख्या और विडियो कल का सेशन बढाया जा सकता है।

11. कोविड-१९ के प्रकोप और लॅक-डाउन की अवधि में जिला में निम्न कार्यों को आगे बढाने का निर्देश दिया जाता है।

(क) फोन काउन्सेलिङ: जितनी भी समितियाँ बनी हैं, उन समितियों के पदाधिकारियों से फोन या विडियो कॅल मार्फत् सम्पर्क में रहना, उसका अनुगमन और काउन्सेलिङ करना, तथा सभी को घोषणा पत्र और हाथे पुस्तिका पढ़ने, जनमत पार्टी के १५-बूँदे फ्लेक्स प्रिंट वर्णन करने के लिए सीखने और आत्मकथा सहित के विडियो देखने के लिए कहना। (ये सारी सामग्रियाँ इस साइट पर उपलब्ध है, बाँकी भी यही जगह पर उपलब्ध होगा: janamatparty.org/downloads )

(ख) भाषण तैयारी: उपरोक्त घोषणा पत्र, हाथे पुस्तिका आदि पढ़ने के आधार पर अपना भाषण लिखकर तैयार करना, उसे बार-बार रिहर्सल करना, अन्त में ५-१० मिनेट भाषण का विडियो बनाना और मूल्यांकन के लिए भेजना। भाषण तैयार करते समय आधे भाषण में पार्टी के राजनैतिक सिद्धान्त, एजेन्डा आदि हो और आधे भाषण में स्थानीय मुद्दे को समेटें (कि अभी वहाँ पर क्या कमी कमजोरी भ्रष्टाचार आदि है, और हमारी पार्टी के आने पर सिस्टम क्या और कैसे बदलेगा, क्या काम होगा)। वडा/पालिका स्तर के पदाधिकारी अपने भाषण जिला समिति में भेजें, और जिला स्तर के पदाधिकारी केन्द्रिय प्रशिक्षण विभाग को [email protected] पर, और विदेश में रहते आये गैर-आवासीय मधेशी संघ के सदस्य द्वारा [email protected] पर भेजें।

12. जनमत पार्टी सभी नेता, कार्यकर्ता एवं शुभचिन्तक तथा आम-जनता को कोविड-१९ की महामारी के संकटकाल में इस सम्बन्ध में सरकार और स्थानीय निकाय द्वारा जारी निर्देश को पालन करने और सुरक्षित रुप से रहने के लिये अनुरोध करती है।

……………………………
डा. सी. के. राउत
अध्यक्ष, जनमत पार्टी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.